कोटिकरण पर संगठन हुआ मुखर, विभिन्न बिंदुओं पर रखा पक्ष

कोटिकरण में न हो अन्याय
*******************
नवीन पांडे हरिद्वार। मुख्य शिक्षा अधिकारी हरिद्वार की अध्यक्षता में सभी खंड शिक्षा अधिकारियों , उप शिक्षा अधिकारियों तथा समस्त संगठनों के पदाधिकारियों के साथ कोटिकरण के संबंध में गत दिवस हुई बैठक में उत्तराँचल पर्वतीय कर्मचारी शिक्षक संगठन द्वारा पुरजोर तरीके से मानक संख्या 1 मोटर मार्ग पर अपना पक्ष रखा गया और अधिकारियों को स्पष्ट अवगत कराया गया की मोटर मार्ग केवल उन्हीं मार्गों को माना जाएगा जहां पर नियमित रूप से रोडवेज और परमिट वाली गाड़ियां संचालित हो रही हैं । हालांकि अधिकारी भी इस बिंदु को सपष्ट नहीं कर पाए फिर भी संगठन निरंतर अपनी मांग पर अडिग है। साथ ही कोटिकरण के मानकों से रेलवे व समुद्र तल से ऊँचाई को हटाने एवम हाउस रेंट तथा छात्र शिक्षक अनुपात को मानकों में शामिल करने की मांग उठाई गई।एक परिसर में संचालित प्राथमिक, जूनियर हाईस्कूल व हाइस्कूलों को एक ही श्रेणी में वर्गीकृत किया जाय ,यह मांग भी प्रमुखता से रखी गई। अंत में निर्णय लिया गया कि कोटीकरण के संबंध में समस्त खंड शिक्षा अधिकारी अपने-अपने ब्लॉक में प्रधानाचार्यों की बैठक बुलाकर कोटि करण प्रपत्र भरवाएंगे। इस संबंध में संगठन अपने समस्त पदाधिकारियों से अनुरोध करता है कि उक्त बैठक में वह भी शामिल रहे और कोटिकरण संबंधित प्रपत्र भरवाने में पूर्ण सहयोग करें। किसी भी स्थिति में किसी के दबाव में न आएं और मोटर मार्ग उन्हें मार्गों को माने जहां पर नियमित रूप से यातायात के वाहन रोडवेज और परमिट वाले वाहन उपलब्ध हों।
साथ ही समस्त अध्यापकों से भी विनम्र निवेदन है कि कोटि करण के दिए गए मानकों का गहनता से अध्ययन कर लें और अपने प्रधानाचार्य के साथ चर्चा करते हुए एक कॉपी भर कर तैयार करें ताकि प्रधानाचार्य महोदय भी बैठक में उसी प्रकार से प्रपत्र को भर सके। इस अवसर पर महामंत्री ललित मोहन जोशी, जिलाअध्यक्ष डॉ शिवा अग्रवाल एवम अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *