तिलभांडेश्वर मंदिर से निकली शिव बारात बनी आकर्षण का केंद्र

हरिद्वार (नवीन पाण्डेय)। प्राचीन सिद्धपीठ श्री तिलभाण्डेश्वर महादेव मंदिर में 23वें महाशिवरात्रि पर्व का आयोजन श्रद्धा व उल्लास के साथ किया गया। महोत्सव का शुभारम्भ श्री गणेश पूजन के साथ हुआ। बुधवार को भगवान शिव की शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा मंदिर प्रागंण से आरम्भ होकर शहर के मुख्य मार्गों से होती हुई देर शाम मंदिर प्रांगण पहुंच कर सम्पन्न हुई। 
https://stateupdates.com/2018/02/14/टांटवाला-की-बेटियों-के-लि/?utm_source=WhatsApp&utm_medium=IM&utm_campaign=share
बुधवार को श्री तिलभाण्डेश्वर महादेव मंदिर में महाशिवरात्रि  महोत्सव का आगाज हुआ। दोपहर में बैंडबाजों व अनेक धार्मिक झांकियों के साथ भगवान शिव की शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा का शुभारम्भ उदासीन पंचायती बड़ा अखाड़ा के कोठारी महंत प्रेमदास जी ने गणेश पूजन के साथ किया। 
इस अवसर पर श्रद्धालु भक्तों को सम्बोधित करते हुए कोठारी महंत प्रेमदास जी ने कहा कि कनखल को भगवान शिव की नगरी कहा जाता है। यह मान्यता लाखों-करोड़ों वर्षों से है। भगवान शिव यहां के कण-कण में विद्यमान हैं। उन्होंने भगवान तिलभाण्डेश्वर को नमन करते हुए हर प्रकार के सहयोग का मंदिर के श्रीमहंत त्रिवेणी दास महाराज को आश्वासन दिया। 
इस अवसर पर मंदिर के श्रीमहंत त्रिवेणी दास महाराज ने कहा कि भगवान तिलभाण्डेश्वर की पूजा से श्रद्धालु भक्तों के सभी कष्टों का शमन हो जाता है। शुक्ल पक्ष में भगवान श्री तिलभाण्डेश्वर को पूजन-अर्चन करने से धन-सम्पदा में वृद्धि व आरोग्य की प्राप्ति होती है। कृष्ण पक्ष में पूजन करने से व्यक्ति के पापों व भय का नाश होता है।  इसके पश्चात विशाल शिव बारात निकाली गई। बारात मंदिर प्रांगण से आरम्भ होकर शहर के मुख्य मार्गों से होती हुई मंदिर प्रांगण पहुंचकर सम्पन्न हुई। बारात में बैंडबाजों के साथ देवताओं की झांकी ने सभी का मन मोहा। शिव बारात में भगवान शिव के गणों को नृत्य विशेष आकर्षण का केन्द्र रहा। 
गुरुवार 15 फरवरी को महाशिवरात्रि महोत्सव का यज्ञ की पूर्णाहुति, संत समागम व विशाल भण्डारे के साथ समापन होगा। शिव बारात में सहयोग करने वालों में परविन्द कुमार गोयल, अरविन्द अग्रवाल, नीरज चौधरी, सुरन्द्र अरोड़ा, जितेन्द्र शास्त्री, पप्पू, नीतिन गुप्ता, हिमांशु चोपड़ा, भारत भूषण, मोहन शर्मा, वीरेन्द्र कुमार वत्स, योगेश कुमार वत्स, विनोद शर्मा, राघव चौधरी, सोनू शर्मा, विजय कुमार आदि प्रमुख थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *