भावी IAS ने कर दी मासूम की हत्या, शव को 37 दिन तक अटैची में रखा

सतीश बंसल, नई दिल्ली
जो व्यक्ति IAS बनने का ख्वाब देख रहा था अब सलाखों के पीछे है। उसने की है विश्वास की हत्या। अपना कर्ज उतारने की खातिर दिल्ली के स्वरूप नगर इलाके में 20 लाख की फिरौती के लिए एक युवक ने अपने परिचित के 7 साल के बेटे को सवा माह पहले अगवा कर उसकी हत्या कर दी। आरोपी ने शव को अपने कमरे में एक पन्नी में लपेटकर अटैची में छुपा दिया। आरोपी की पहचान अवधेश कुमार (28) के रूप में हुई। आरोपी दो बार UPSC की प्रीलिम्स परीक्षा पास कर चुका है।वहीं बच्चे की शिनाख्त आशीष उर्फ आशु (7) के रूप में हुई।

आशीष पिता करण सिंह (33) मां नीलम, दो बहन गुंजन (8), रीतिका (4) के साथ डी ब्लॉक हरिजन बस्ती में रहता था। करण की बुध बाजार में परचून की दुकान है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि शव बुरी तरह से सड़ चुका है। जानकारी के अनुसार इसी 7 जनवरी की शाम आशीष घर से निकलकर अपने चाचा राहुल के घर गया था। उसके बाद से वह लापता हो गया पुलिस ने इलाके केे सैकड़ों घरों की तलाशी ली लेकिन कामयाबी नहीं मिली। दो दिन पहले परिवार वालों ने अपने परिचित अवधेश पर शक जताया। पुलिस ने मंगलवार तड़के अवधेश को हिरासत में लेकर पूछताछ की। जिसमें उसने अपना अपराध कबूल कर लिया। उसने बताया कि उस पर काफी कर्ज हो गया था। जिसके चलते उसने इस वारदात को अंजाम दिया। लगभग 37 दिन तक शव को अटैची में रखने से दुर्गंध हो गई थी जिससे अवधेश ने कुछ चूहों को मारकर घर मे डाल दिया जिससे किसी को शक न हो। आरोपित शव को ठिकाने लगाना चाहता था पर मासूम के पिता द्वारा गली में 10 सीसीटीवी कैमरे लगा दिए जाने से उसकी हिम्मत नही हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *