मुख्यमंत्री TSR ने चाय-स्नैक्स पर खर्च दिए 68 लाख!

हरिद्वार ( ब्यूरो ) उत्तराखंड राज्य को देवभूमि कहा जाता है। देवभूमि में यदि अतिथि देवो भव की परंपरा का सही निर्वहन किया जा रहा है तो वह है प्रदेश के मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत का कार्यालय जहां उनके कार्यभार संभालने के बाद से 22 जनवरी तक चाय और स्नैक्स पर 68 हज़ार रुपये खर्च डाले।
देश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रूप में एक उम्मीद की किरण दिखाई दी। जब राज्य में प्रचंड बहुमत से बीजेपी की सरकार बनी तो चर्चा थी कि सरकार के संचालन पीएमओ से होगा परंतु महज 10 महीने में ही राज्य फिर उसी बदहाली की तरफ शायद जा रहा है। जीरो टॉलरेंस की सरकार के कार्यकाल में जनता की गाढ़ी कमाई को इस तरह लुटाया जाएगा किसी ने सोचा भी नही होगा। नैनीताल निवासी आरटीआई कार्यकर्ता ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के समय में चाय और स्नैक्स के खर्च का ब्यौरा मांगा तो पढ़ने सुनने वालों के पांव के नीचे से जमीन खिसक गई। महज दस महीने में अतिथि देवो भव का खूब पालन किया गया। इन दस महीनों में कुल जमा 68 लाख 59 हज़ार 865 रुपये चाय और स्नैक्स पर खर्च कर दिए गए। एक मोटा हिसाब लगाया जाए तो एक दिन की चाय और स्नैक्स का खर्च लगभग 23 हज़ार बैठेगा। इस जानकारी के सामने आने के बाद चर्चा का माहौल गर्म है। पलायन, बेरोजगारी जैसी समस्यायों को झेल रहे प्रदेश में खर्च के आलम से ऐसा लगता है कि प्रदेश के नीति नियंताओं ने कर्ज लेकर इसे इस तरह ठिकाने लगाने की संस्कृति विकसित कर ली है। कुल मिलाकर 13 जिलों के प्रदेश में मुख्यमंत्री की नाक तले जब यह स्थिति है तो अन्य विभागों का क्या हाल होगा। उधर मंत्री प्रकाश पंत ने जानकारी को गलत बताया जबकि यह जानकारी आरटीआई में दी गई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *